रूपेशकांत, संगीन और यशपाल को शिकस्त देकर गिर्राज बने चैंपियन


ग्वालियर। ग्वालियर के गिर्राज पाठक ने अपने ही शहर के वरिष्ठ खिलाड़ी एवं शतरंज प्रशिक्षक रूपेशकांत और संगीन मांढरे के साथ सागर के यशपाल अरोरा को क्रमश: शिकस्त देकर ओपन रैपिड शतरंज चैंपियनशिप की विजयी ट्रॉफी पर कब्जा जमाया। दतिया में गत दिवस खेली गई इस चैंपियनशिप में गिर्राज ने 6 में से 6 अंक बनाकर यह स्वर्णिम सफलता हासिल की। इंटरनेशनल खिलाड़ी और प्रशिक्षक ऋषभ जैन ने बताया, एक दिवसीय चैंपियनशिप में ग्वालियर के गिर्राज पाठक के साथ कई रेटेड खिलाड़ियों ने अपनी चुनौती पेश की थी।
दैनिक भास्कर के अनुसार गिर्राज ने अपने पहले चक्र में दतिया के कृष्णा शर्मा को हराकर चैंपियनशिप में शानदार शुरूआत की। इसके बाद मेजबान खिलाड़ी प्रशांत यादव को तथा तीसरे चक्र में भी दतिया के ही यश गुप्ता को करारी शिकस्त देकर अपना विजयी सफर जारी रखा। इसके बाद चौथे राउंड में उनके सामने ग्वालियर के शतरंज कोच संगीन मांढरे बैठे। इस मैच में बड़े उलटफेर की उम्मीद थी, लेकिन गिर्राज की संगीन चालों में मांढरे भी उलझ गए और मैच गंवा बैठे। पांचवे चक्र में सागर के यशपाल अरोरा के खिलाफ भी गिर्राज ने शानदार जीत हासिल कर 6वें चक्र में जगह बनाई। चैंपियनशिप के इस अंतिम राउंड में रूपेशकांत भी गिर्राज की चालों से बच नहीं सके। इस रोमांचक मुकाबले में गिर्राज ने रूपेशकांत के खिलाफ कई हैरत अंगेज चालों का प्रदर्शन कर यह चक्र और चैंपियनशिप अपने नाम कर ली। शतरंज प्रशिक्षक ऋषभ ने बताया, गिर्राज अब इंटरनेशनल ओपन ग्रैंड मास्टर रेटिंग शतरंज चैंपियनशिप खेलने जाएंगे। 


Popular posts from this blog

राघवेंद्र सिंह तोमर नेशनल स्पोर्ट्स टाइम्स के संरक्षक संपादक बने

साई भोपाल में फिट इंडिया फ्रीडम रन का अयोजन हुआ

खेल विभाग़ ने मुन्नालाल और इकबाल को सेवानिवृत्ति पर दी भावभीनी बिदाई