मेरी जानकारी में लायें अपनी परेशानियाँ:खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया
भोपाल। खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया ने मंगलवार को टी.टी. नगर स्टेडियम में 19 जिलों के जिला खेल अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा की। श्रीमती सिंधिया ने कहा कि वर्तमान में खेल गतिविधियों का दायरा बहुत बदल गया है। अब आधुनिकता और साइंस का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है। जिला खेल अधिकारी की जिम्मेदारी है कि वे खेलों में आये इस परिवर्तन को समझें और उस पर अमल करें। उन्होंने कहा कि जिला खेल अधिकारी की जिम्मेदारी होगी कि वे अपने जिले के टेलेंट को चिन्हित करें और सही हाथों में सौपें।
खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने सभी जिला खेल अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रत्येक डीएसओ अपने-अपने जिले की खेल गतिविधियों से संचालनालय को अवगत करायें। साथ ही अधोसंरचना, खेल परिसर की व्यवस्था, बच्चों की संख्या एवं उनके रख-रखाव, खान-पान आदि की जानकारी नियमित रखें। कोई कमी है तो मेरे अथवा संचालक की जानकारी में लायें। खेल मंत्री ने कहा कि अपनी निजी परेशानी के लिये भी मुझसे सम्पर्क कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हर तीन महीने में जिला खेल अधिकारियों की बैठक की जायेगी। तीरंदाजी अकादमी ऑफ एक्सीलेंस की रूपरेखा पर चर्चा मध्यप्रदेश ने तीरंदाजी खेल में कई रिकार्ड स्थापित किये हैं। खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने जबलपुर में स्थापित की जाने वाली तीरंदाजी अकादमी ऑफ एक्सीलेंस की रूपरेखा एवं निर्माण संबंधी कार्यों की विस्तृत चर्चा की। श्रीमती सिंधिया ने वाटर स्पोर्ट्स अकादमी के प्रशिक्षकों के साथ वर्तमान स्थिति में प्रशिक्षण गतिविधियों के संबंध में भी चर्चा की। इस अवसर पर संचालक खेल एवं युवा कल्याण पवन जैन उपस्थित थे।