थाईलैंड ओपन: पीवी सिंधु की चुनौती समाप्त, समीर वर्मा चुनौतीपूर्ण मुकाबले में हारे
बैंकॉक |विश्व चैम्पियन पीवी सिंधु को शुक्रवार को टोयोटा थाईलैंड ओपन सुपर 1000 बैडमिंटन टूर्नामेंट के एकतरफा क्वार्टरफाइनल में हार का सामना करना पड़ा जबकि समीर वर्मा चुनौतीपूर्ण मुकाबले में पराजित हो गए। ओलंपिक की रजत पदकधारी सिंधु में मुकाबले के दौरान उस खिलाड़ी की झलक नहीं दिखी जिसने 2019 में विश्व चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था। वह घरेलू प्रबल दावेदार रतचानोक इंतानोन के खिलाफ 13-21 9-21 से आसानी से हार गईं। मेन्स सिंगल्स में समीर को वर्ल्ड रैंकिंग में तीसरे स्थान पर काबिज एंडर्स एंटोनसेन से करीबी क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। डेनमार्क के खिलाड़ी ने 21-13 19-21 22-20 से जीत दर्ज की। सिंधु और समीर के हारने से टूर्नामेंट के एकल वर्ग में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई। लाइव हिन्दुस्तान के अनुसार रतचानोक को सिंधु के खिलाफ पिछली तीन भिड़ंत में हार मिली थी। लेकिन उन्होंने काफी सकारात्मक खेल दिखाते हुए शुरू में ही तीन प्वॉइंट्स की बढ़त बना ली जबकि सिंधु लेंथ पर नियंत्रण नहीं बना सकी। पहले गेम के ब्रेक तक थाईलैंड की खिलाड़ी ने चार प्वॉइंट्स की बढ़त बना ली। सिंधु ने ब्रेक के बाद वापसी की कोशिश में स्कोर 13-13 से बराबर कर दिया। पर वह ज्यादा देर तक इसे कायम नहीं रख सकी और रतचानोक ने लगातार आठ प्वाइंट जीतकर बिना किसी परेशानी से पहला गेम अपनी झोली में डाला। दूसरे गेम में भी कोई ज्यादा बदलाव नहीं हुआ सिंधु एक समय 1-7 से पिछड़ रही थीं और ब्रेक तक वह सात प्वाइंट से पीछे ही रहीं। ब्रेक के बाद रतचानोक ने 12 मैच प्वाइंट हासिल करने के बाद इस गेम को भी आसानी से जीत लिया। वहीं मेन्स सिंगल्स में शुरुआती गेम में एंटोनसेन ने 5-0 से बढ़त बना ली थी और समीर अपनी लेंथ से जूझ रहे थे जिससे उनके शॉट लंबे और वाइड जा रहे थे। एंटोनसेन ने अच्छी लय जारी रखते हुए ब्रेक तक छह प्वॉइंट्स की बढ़त बना ली। वहीं समीर अपने प्रतिद्वंद्वी को लंबी रैली में नहीं उलझा सके और उन पर कोई दबाव नहीं बना पाए। साथ ही वह शॉट में जूझते रहे जिससे एंटोनसेन ने आठ गेम प्वाइंट से पहला गेम अपने नाम किया। दूसरे गेम में भी एंटोनसेन ने 5-1 की बढ़त बना ली लेकिन इस बार समीर लगातार चार प्वॉइंट्स जुटाकर वापसी करने में सफल रहे। इस भारतीय ने शानदार क्रास कोर्ट नेट शॉट से 7-7 की बराबरी हासिल की जिसके बाद उन्होंने प्रतिद्वंद्वी की गलती की बदौलत बढ़त बना ली। लेकिन ब्रेक तक एंटोनसेन एक अंक की बढ़त ले चुके थे। पर समीर ने प्रयास जारी रखते हुए गेम प्वाइंट हासिल किया और फिर एंटोनसेन की गलती से इस गेम को जीत लिया। निर्णायक गेम में दोनों एक समय 5-5 की बराबरी पर थी जिसके बाद समीर कुछ शानदार शॉट से 9-6 से आगे हो गये। वह ब्रेक तक तीन अंक की बढ़त बनाये थे। एंटोनसेन ने वापसी की और 13-13 से बराबर हो लिये। समीर दो बार नेट पर गलती कर बैठे। यहां गेम काफी रोमांचक हो गया और 18-18 की बराबरी तक ऐसा जारी रहा। समीर वीडियो रेफरल जीतकर 19-19 से बराबरी पर थे। पर अंत में एंटोनसेन ने शानदार रिटर्न पर मैच प्वाइंट हासिल करते हुए मैच जीत लिया।