मध्य प्रदेश घुड़सवारी अकादमी के घुड़सवारों ने जीते एक-एक स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक
भोपाली। मध्य प्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी के खिलाड़ियों ने जयपुर में 24 से 28 जनवरी, 2021 तक आयोजित जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता के इंडुरेन्स 40 कि.मी. इवेन्ट में एक स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक मध्य प्रदेश को दिलाया। प्रतियोगिता में अकादमी के खिलाड़ी राजू सिंह ने तितली और उमर अली ने अर्जुन अश्व पर प्रदर्शन करते हुए जूनियर क्लास इंडुरेन्स टीम इवेन्ट में स्वर्ण पदक मध्य प्रदेश को दिलाया। जबकि यंग रायडर इंडुरेन्स टीम इवेन्ट में अकादमी के खिलाड़ी अंशप्रीत सिंह ने डीब्लू अश्व और अमन पाठकर ने रामजस अश्व पर प्रदर्शन करते हुए मध्य प्रदेश को रजत पदक दिलाया। प्रतियोगिता के जूनियर क्लास इंडुरेन्स 40 कि.मी. व्यक्तिगत स्पर्धा में अकादमी के घुड़सवार उमर अली ने अर्जुन अश्व पर प्रदर्शन करते हुए कांस्य पदक अर्जित किया। अकादमी के खिलाड़ी राजू सिंह और उमर अली ने आगामी इंडुरेन्स 60 कि.मी. के लिए क्वालिफाय कर लिया। उक्त घुड़सवारों ने अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक कैप्टन भागीरथ के मार्गदर्शन में प्रतियोगिता में भागीदारी की। प्रदेश का गौरव बढ़ा रहे हैं अकादमी के घुड़सवार खेल और युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने जूनियर राष्ट्रीय घुड़सवारी प्रतियोगिता में अकादमी के खिलाड़ियों के प्रदर्शन की सराहना करते हुए पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई दी है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के बाद आयोजित घुड़सवारी प्रतियोगिताओं में अकादमी के घुड़सवार शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और लगातार पदक जीत कर प्रदेश का गौरव बढ़ा रहे हैं। एक्सीलेन्स अकादमी संचालक खेल और युवा कल्याण पवन जैन ने बताया कि मध्य प्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी में खिलाड़ियों को उच्च स्तरीय खेल सुविधाएं और हाय परफारमेंस टेªनिंग उपलब्ध कराई जा रही है, जिसके चलते खिलाड़ी घुड़सवारी प्रतियोगिताओं में सर्वश्रेष्ट प्रदर्शन कर लगातार सफलता अर्जित कर रहे है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया जी की पहल पर भोपाल में स्थापित मध्य प्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी देश की पहली ऐसी अकादमी है जिसका राज्य सरकार द्वारा संचालन किया जा रहा है। एक्सीलेन्स अकादमी के माध्यम से खिलाड़ियों को थारो ब्रीड एवं वार्म ब्लड के उन्नत नस्ल के अश्वों पर तकनीकी टेªनिंग के साथ ही उच्च स्तरीय खेल सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही है। इसी का नतीजा है कि विगत चार वर्षों में देश में सबसे ज्यादा मैडलिस्ट खिलाड़ी मध्य प्रदेश राज्य घुड़सवारी अकादमी के हैं।