खेल बजट कम होने पर भी खिलाड़ियों को नहीं होगी पैसों की कमीः खेल मंत्री
नई दिल्ली |खेलमंत्री किरेन रीजीजू ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए खेल मंत्रालय को मिले बजटीय आवंटन में कटौती के बावजूद संतोष जताते हुए कहा कि ओलंपिक वर्ष में जरूरत पड़ने पर सरकार से और आवंटन की मांग की जा सकती है। उन्होंने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाले सभी खिलाड़ियों की सारी जरूरतें पूरी की जाएंगी। केंद्र सरकार ने सोमवार को बजट में खेलों के लिए 2596.14 करोड़ रुपये आवंटित किए, जो पिछले साल के मूल आवंटन से 230.78 करोड़ रुपये कम है। लाइव हिन्दुस्तान के अनुसार रीजीजू ने जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम पर 'फिट इंडिया' के कार्यालय के उद्घाइन के मौके पर कहा, 'जरूरत पड़ने पर संशोधित आवंटन का प्रावधान है। हम सरकार से और पैसा मांग सकते हैं।' पिछले साल संशोधित आवंटन 1800. 15 करोड़ रुपये का था, क्योंकि कोरोना महामारी के कारण खेल ठप थे। इस साल का आवंटन पिछले साल के संशोधित आवंटन से 795.99 करोड़ रुपये अधिक है। रीजीजू ने कहा, 'खेल मंत्रालय राष्ट्रीय खेल महासंघों और खिलाड़ियों की मदद के लिए है। हम उनकी सारी जरूरतें पूरी करेंगे।' उन्होंने कहा, 'आवंटन खिलाड़ियों के लिए है, राष्ट्रीय खेल महासंघों के लिए नहीं। खिलाड़ियों के लिए धन की कमी नहीं आएगी। विदेश में अभ्यास से लेकर विदेशी कोच तक, उनकी सारी जरूरतें पूरी की जाएंगी। खेल सचिव रवि मित्तल ने कहा, 'पिछले बजट के संशोधित आंकड़ों से तुलना करें तो इस साल आवंटन बढा है ।खेलो इंडिया का आवंटन भी 2019 . 20 की तुलना में 72 प्रतिशत बढ़ा है।'