भारतीय मुक्केबाजों ने एक गोल्ड सहित 10 पदकों पर किया कब्जा
नई दिल्ली | भारतीय मुक्केबाजों ने स्पेन के कास्टेलोन में आयोजित बॉक्सम इंटरनेशनल टूर्नामेंट में एक गोल्ड सहित कुल 10 पदक जीते और टोक्यो ओलम्पिक के लिए अपनी मजबूत तैयारी का संकेत दे दिया। विश्व चैंपियनशिप के सिल्वर मेडलिस्ट मनीष ने शानदार प्रदर्शन करते हुए डेनमार्क के निकोलई तेरतेरयन को 63 किग्रा वर्ग में 3-2 से हराकर गोल्ड मेडल जीता। इसके अलावा विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता विकास कृष्णन को स्थानीय मुक्केबाज एनदियो सिसोखो के हाथों 69 किग्रा वर्ग में 1-4 से हारकर रजत से संतोष करना पड़ा। एशियाई चैंपियन पूजा रानी को 75 किग्रा, युवा जास्मिन को 57 किग्रा, सिमरनजीत कौर (60), मुहम्मद हुसामुद्दीन (57), आशीष कुमार (75), सुमि सांगवान (81) और सतीश कुमार (+91).को रजत से संतोष करना पड़ा। आशीष कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के कारण अपने फ़ाइनल से हट गए जबकि चार अन्य मुक्केबाज भी एहतियातन अपने वर्गों के फ़ाइनल से हट गए। ये सभी मुक्केबाज आशीष के नजदीकी संपर्क में थे। छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम को सेमीफाइनल में हारने करे कारण ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा। भारत के 14 मुक्केबाजों ने टूर्नामेंट में हिस्सा लिया। लाइव हिन्दुस्तान से सााभार