रूस के अर्तिश लोपसान ने विजेंदर सिंह के अजेय अभियान पर लगाई रोक
पणजी | भारत के अनुभवी मुक्केबाज विजेंदर सिंह के पेशेवर सर्किट पर अश्वमेधी अभियान पर शुक्रवार को रोक लग गई, जिन्हें रूस के अर्तिश लोपसान ने 'बैटल ऑन शिप' मुकाबले में हरा दिया। बीजिंग ओलंपिक 2008 के कांस्य पदक विजेता विजेंदर 2015 में पेशेवर सर्किट में उतरे थे और तब से लगातार 12 मुकाबले जीत चुके हैं। अपना सातवीं बाउट खेल रहे रूसी मुक्केबाज ने 'मैजेस्टिक प्राइड कैसिनो जहाज' पर हुए इस मुकाबले में जीत दर्ज करके स्थानीय दर्शकों का दिल तोड़ दिया। पांचवें दौर में एक मिनट और नौ सेकंड के बाद रैफरी ने रूसी मुक्केबाज को विजयी घोषित किया। मैच जीतने के बाद रूस के मुक्केबाज अर्तिश लोपसान ने कहा कि स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह के पेशेवर सर्किट पर अजेय अभियान को खत्म करने वाला पहला मुक्केबाज बनने की उन्हें खुशी है। छह फुट चार इंच लंबे इस मुक्केबाज ने शुक्रवार की रात विजेंदर को 'बैटल ऑन शिप पर' हराया। लोपसान ने कहा कि विजेंदर के खिलाफ मेरी रणनीति कारगर साबित हुई। वह शानदार फाइटर हैं और यह बेहतरीन अनुभव रहा। मुझे खुशी है कि विजेंदर सिंह का अजेय रिकॉर्ड तोड़ने वाला मैं पहला मुक्केबाज बना। विजेंदर ने कहा कि वह इस हार के बाद मजबूती से वापसी करेंगे। उन्होंने कहा कि यह अच्छा मुकाबला था। वह युवा और दमदार मुक्केबाज है। मैं वापसी करके उसे मॉस्को में हराऊंगा। लाइव हिन्दुस्तान से साभार