उज्बेकिस्तान ओपन चैम्पियनशिपः श्रीहरि नटराज ने दूसरा स्वर्ण पदक जीता

ताशकंद। भारत के शीर्ष तैराक श्रीहरि नटराज ने यहां 50 मीटर बैकस्ट्रोक में राष्ट्रीय रिकार्ड बनाने के साथ उज्बेकिस्तान ओपन चैम्पियनशिप में अपना दूसरा स्वर्ण पदक हासिल किया। बीस साल के इस तैराक ने शनिवार रात को फीना मान्यता प्राप्त ओलंपिक क्वालीफाइंग प्रतियोगिता में 25.11 सेकेंड के समय से शीर्ष स्थान हासिल किया। भारतीय तैराकों ने इस प्रतियोगिता में 29 पदक - 18 स्वर्ण, सात रजत और चार कांस्य - जीत लिए हैं। यह श्रीहरि का दो दिनों में तीसरा राष्ट्रीय रिकार्ड है, बेंगलुरू के इस तैराक ने इस हफ्ते के शुरू में अपनी पसंदीदा 100 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धा में भी 2 बार राष्ट्रीय रिकार्ड बनाए। श्रीहरि ने 100 मीटर बैकस्ट्रोक में पहले ही तोक्यो ओलंपिक के लिए ‘बी' मानक हासिल कर लिया है। उन्होंने हीट में 54.10 सेकेंड से अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ समय निकाला और फिर फाइनल में 54.07 सेकेंड के समय से स्वर्ण पदक जीता। वह स्पर्धा में महज 0.22 सेकेंड से ओलंपिक ‘ए' क्वालीफिकेशन मार्क से चूक गए। एक अन्य तैराक साजन प्रकाश से ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने की उम्मीद है, उन्होंने जिन सभी चार स्पर्धाओं में हिस्सा लिया है, सभी में स्वर्ण पदक जीता है। शनिवार को अंतिम दिन केरल के इस तैराक ने 100 मीटर बटरफ्लाई में 53.69 सेकेंड के समय से पोडियम में पहला स्थान हासिल किया। माना पटेल और सुवाना भास्कर ने महिलाओं की 50 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धा में क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक अपने नाम किए। श्रीहरि की तरह ही साजन भी तोक्यो ओलंपिक के लिए ओलंपिक ‘ए' मार्क हासिल करने से चूक गए। साजन 2016 रियो ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले देश में एकमात्र पुरूष तैराक थे। उन्होंने मंगलवार को अपनी पसंदीदा 200 मीटर बटरफ्लाई स्पर्धा में 1.57.85 सेकेंड का समय लिया था और वह ओलंपिक ‘ए' कट से चूक गये थे। अभी तक कोई भी भारतीय तैराक तोक्यो ओलंपिक के लिए ‘ए' कट हासिल नहीं कर पाया है। पंजाब केसरी से साभार

Popular posts from this blog

राघवेंद्र सिंह तोमर नेशनल स्पोर्ट्स टाइम्स के संरक्षक संपादक बने

साई भोपाल में फिट इंडिया फ्रीडम रन का अयोजन हुआ

खेल विभाग़ ने मुन्नालाल और इकबाल को सेवानिवृत्ति पर दी भावभीनी बिदाई